चलो आज फिर से, हँसने की कोई वजह ढूँढते हैं उदासी और मायूसी को छोड़ कर,ख़ुशियों को ढूँढते हैं किसी रोते हुए बच्चे को हँसाते हैं किसी बिछुड़े हुए दिल को मिलाते हैं किसी मायूस के दिल में,उम्मीद का दिया जलाते हैं किसी भटके हुए मुसाफ़िर को,नई राह दिखाते हैं […]

Continus reading  

दूधिया चाँद की रौशनी में (संजय वर्मा ‘दृष्टी ‘) तेरा चेहरा दमकता नथनी का मोती बिखेरता किरणे आँखों का काजल देता काली बदली का अहसास मानो होने वाली प्यार की  बरसात तुम्हारी कजरारी आँखों से काली बदली चाँद को ढँक देती दिल धड़कने लगता चेहरा छूप जाता चांदनी की परछाई उठाती […]

Continus reading  

पैंतालीसवीं वैवाहिक वर्षगाँठ की बधाई बज उठी क़लम के हर लफ़्ज़ से शहनाई जय श्री कृष्णा” जिस ज़ुबान से हरदम पहला लफ़्ज़ यही निकलता हो उस शख़्सियत को प्रणाम करते हुए, उनकी लेखनी के कुछ अँश अनुराधा प्रकाशन के पाठकों से साझा करते हुए मुझे हर्ष की अनुभूति हो रही […]

Continus reading  

(आशा सहाय) स्वप्न वह नहीं ,जिसे हम शयनावस्था में देखते हैं,भूल जातेहैं,,और उनकी उल्टी सीधी कहानियों में व्यर्थ ही अर्थ ढूँढ़ने की  कोशिश करते हैं।यद्यपि उन स्वप्नों का भी व्यक्तित्वसे जो जुड़ाव है वह महत्व तो रखता ही है पर हम उन स्वप्नों की बात नहीं करना चाहते,। वे या […]

Continus reading  

गृहमंत्री राजनाथ सोमवार को बहराइच और लखीमपुर खीरी जिले में थे। जनपद बहराइच में गृह मंत्री ने भारत-नेपाल सीमा पर स्थित रुपईडीहा में 200 करोड़ से बनने वाले एकीकृत जांच चौकी के शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि यहां 145 एकड़ भूमि में 200 करोड़ की लागत से चेक पोस्ट का […]

Continus reading  

सामान्य श्रेणी के आर्थिक दृष्टि से पिछड़े लोगों को सरकारी नौकरियों तथा शिक्षा में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का संवैधानिक प्रावधान सोमवार से प्रभाव में आ गया है। इस बाबत सरकारी अधिसूचना जारी कर दी गई। संविधान (103 संशोधन) अधिनियम, 2019 को शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ को¨वद की मंजूरी मिल […]

Continus reading  

देश की जनता से आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा के झूठे वादों और प्रलोभन से सावधान रहने की नसीहत देते हुये बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को कहा कि सपा से किया गया गठबंधन केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार का सूपड़ा साफ कर देगा। अपने 63वें जन्मदिन के मौके […]

Continus reading  

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नई दिल्ली में 14 जनवरी को प्रथम फिलिप कोटलर प्रेसिडेंशियल अवार्ड से सम्मानित किया गया। पीएमो द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार यह पुरस्कार तीन आधार रेखा ‘पीपुल, प्रॉफिट और प्लानेट’ पर केन्द्रित है। प्रत्येक वर्ष यह पुरस्कार किसी देश के नेता को प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार […]

Continus reading  

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा ने को एकबार फिर अपनी पार्टी के खिलाफ बगावती तेवर अपनाये और कहा कि भाजपा में लोकशाही हुआ करती थी और अब ‘तानाशाही’ है। निजी समाचार चैनल के प्रोग्राम में उन्होंने भाजपा को अपनी पार्टी बताते हुए कहा […]

Continus reading  

पोषराज मेहरा “अकेला” (ग़ज़ल) लम्हा – लम्हा  चोट  करता  निकलता  है। ज्यों कि दुश्मन साँस के ही संग चलता है। आ  गया  है  बुरा  सा  वक़्त जो मुझ  पर, सगा सा  सख्स  भी बचकर  निकलता है। है   जो   ग़म   तुझे    खोने   का   मुझको, अब […]

Continus reading  

(डॉक्टर सुधीर सिंह)  क्या लिखता हूँ पता नहीं! पर लिखता हूँ मैं प्रतिदिन. लगता है कोई कह रहा है, लिखता  जा  तू   निर्विघ्न. तेरा फर्ज  कर्तव्यपालन है, आत्मा की सुन लेआवाज. जहां पर  तेरा ‘मैं’  बैठा है, परमात्मा का वहीआवास. सबकेअंदर छिपा है कर्त्ता, हर इंसान  है उसका दास. जो […]

Continus reading  

(कविता ) सभी को सच्चे हमसफ़र नहीं मिलते रिश्तों की शराफत भूले थे जनाब । बिछड़े मिले कभी राहों में फिर कहीं अदब से झुककर आदाब करिये जनाब तुम ही थे जो ना समझे आशिकी को अब नाजो-शख्स उठाइये जनाब कब तक उससे बचते फिरोगे बस्ती में दोस्ती का फिर […]

Continus reading  

साहित्य मंडल, श्रीनाथद्वारा, नाथद्वारा राजस्थान में आयोजित एक भव्य सम्मान समारोह में दिल्ली की साहित्यकार   श्रीमती सविता चड्ढा को साहित्य सुधाकर की मानद उपाधि  डॉ किशोर जी काबरा, अहमदाबाद के प्रसिद्ध समाज सेवी के कर कमलो  से   मिली। इस अवसर पर श्याम प्रकाश देवपुरा, प्रधानमंत्री साहित्य मंडल नाथद्वारा ने सभी […]

Continus reading  

अब प्यार है करता पैसों से आदमी। अब याद है करता पैसों से आदमी। व्यापार है करता पैसों का आदमी। सम्मान से चलता पैसा है आदमी। ये कैसा आदमी है होती हैरानगी। ये कैसा आदमी है होती हैरानगी। पैसों के लिये आदमी रिश्ते बनाये। पैसों के वास्ते अपनों को भुलाये। […]

Continus reading  

ज़रा सी जान पे ये भी दबाव आख़िर क्यूँ? पुरानी यादों से इतना लगाव आख़िर क्यूँ? जो दोस्ती है तो इतना दुराव आख़िर क्यूँ? तुम्हारे लहजे में ये रखरखाव आख़िर क्यूँ? ग़ुरूर टूट ही जाता है एक दिन सबका, तो ख़्वाम ख़्वाह ये मूंछों पे ताव आख़िर क्यूँ? ये फिक्स […]

Continus reading  

(चित्रांश खरे) मैंने सुना है आप उदासी के साथ हैं लेकिन ख़ुशी है मेरी निशानी के साथ है हमको जूनून ए इश्क़ ने बर्बाद कर दिया हम अब भी अपनी एक खराबी के साथ हैं पेशा तो नोकरी ही रहा शौक शायरी लेकिन ताल्लुकात किसानी के साथ हैं हम यूँ […]

Continus reading  

ग़ज़ल, दिल मेरा आज भी बचपन की तरह लगता है, मुझको संसार भी आंगन की तरह लगता है। रात दिन साँप मेरे साथ रहा करते हैं, मेरा किरदार भी चंदन की तरह लगता है। प्यार की बांसुरी बजती है सदा इस घर में, बन्द कमरे में भी मधुवन की तरह […]

Continus reading  

हम आपके लिये यूँ ही उम्र भर तड़फेंगे। हम आपके लिये यूँ ही उम्र भर तड़फेंगे। तेरी बात के लिए खुद को फना कर देंगे। हम आपके लिये यूँ ही उम्र भर तड़फेंगे। तुम रात के मुसाफिर कल सुबह चल दोगे। तुम रात के मुसाफिर कल सुबह चल दोगे। फुरसत […]

Continus reading  

तुम कौन , मैं कौन ?? मैं नहीं जानता कि, तुम कौन हो? मैं नहीं जानता कि, तुम क्या चाहते हो? मैं, ये भी नहीं जानता कि, मैं कौन हूँ? मैं, ये भी नहीं जानता कि, मैं असल में क्या चाहता हूँ? मैं भी तम्हारी तहर ही अँधेरे में उदासीन, […]

Continus reading  

फिर तेज हुई मण्डल-कमंडल की राजनीति 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सभी राजनैतिक दलों ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया।  इस बार के चुनाव में हिंदुत्व के मुद्दे पर भाजपा-काँग्रेस आमने-सामने हैं। एक तरफ शिवभक्त राहुल गांधी जनेऊधारी बने हुए हैं वही दूसरी ओर नरेंद्र मोदी ‘राम’ […]

Continus reading