मध्यप्रदेश में मतदान को एक सप्ताह से अधिक समय हो गया हैं, और एक सप्ताह से भी कम समय परिणाम आने में बचा हैं। बीतते समय के साथ प्रत्याशियों के दिल की धड़कनें तेज होने लगी हैं। इन बीतते दिनों में सुर्खियों का बाजार गर्म हैं। चुनावी सरगर्मी अब अपने […]

Continus reading  

डॉक्टर सुधीर सिंह मन की उद्विग्नता  को स्वयं ही मिटायें, दूसरों  के  आँगन में  आग नहीं लगायें ईर्ष्या, क्रोध,अहंकार धधकती आग है; इंसान का मन ही जिसका मूलाधार है. चित्त जिसका  शांत  है  और  संतुष्ट है, उसका  ही  जीवन आनंद से भरपूर है. सबके अंत:करण मेंआनंद का स्रोत है, यह […]

Continus reading  

रवि एक बहुत ही समझदार व्यक्ति है और 40 वर्ष की उम्र के इस पड़ाव पर काफी परिपक्व भी नजर आता है।एक बहुत ही व्यस्त सड़क पर अपनी धुन में रवि अपनी मंजिल की तरफ बढ़ा जा रहा था हमेशा की तरह उसकी कार की स्पीड वही 60-70 के बीच […]

Continus reading  

2 दिसंबर 1984 यह तारीख़ जहन में आते ही लोगों की रूह कांप जाती हैं। यह वह काली रात थी जिसमे हज़ारों लोग काल के गाल में समा गए थे।भोपाल की गैस त्रासदी पूरी दुनिया के औद्योगिक इतिहास की सबसे बड़ी दुर्घटना है। तीन दिसंबर, 1984 को आधी रात के […]

Continus reading  

आत्ममंथन करने में जब मैंने अपनी आत्मा का सानिध्य किया। आत्मग्लानि से भर उठा मन बस जीवन को यूँही अस्तव्यस्त किया।।   हर  पल  हर  दम  बिना मतलब की इसकी हामी उसकी हामी। लगता ऐसा जैसे जीवन का सूरज किसी नाकामी से अस्त हुआ।।   इंद्रधनुष रूपी जब जीवन मे […]

Continus reading  

वृद्धाश्रम खोले जाने का कारण बेटे की कम तनख्वाह नहीं होती हमेशा कुछ बेपरवाह, निर्मोही, स्वार्थी बेटियां भी भागीदार होती हैं ।   दे ना देना सारी पूंजी बेटे को मत करना पूर्ण विश्वास रखना कुछ बुढ़ापे के लिए भी वर्ना हालत हमेशा भिखारियों की तरह होती है ।   […]

Continus reading  

जब आजादी के सत्तर वर्षों का इतिहास सुनाना होता है। गिरने लगता लहु बाबू जी दिल तड़प तड़प कर रोता है। बदलों इन पैमानों को गर विकास का ये पैमाना होता है। सर्द ऋतु में इन सड़कों पर जो कोई भूखे पेट सोता है।   युवा भारत का मैं युवा […]

Continus reading  

लगातार थकान,रात को पसीना आना,लगातार डायरिया,जीभ/मूँह पर सफेद धब्बे,,सुखी खांसी,लगातार बुखार रहना आदी परएड्स की संभावना हो सकती हैं। ++++++++++++++++++ लाल बिहारी लाल   नई दिल्ली।लगभग200-300सालपहले इस दुनिया में मानवों में एड्स का नामोनिशान तक नही था। यह सिर्फ अफ्रीकीमहादेश में पाए जाने वाले एक विशेष प्रजाति के बंदरमें पाया […]

Continus reading  

दैर-ओ-हरम में रहने वाले तू जाने क्या पीर मेरी जरा निकल तो दिखलाऊंगा कैसी है तदबीर मेरी   दैर-ओ-हरम में……….   तुझको ढूंढा सहरा-सहरा, तुझको खोजा गली-गली कहीं मिला ना तू ऐ मालिक पत्थर की सी बूत ही मिली   कैसे हाल सुनाता तुझको ऐ पत्थर दिल ओ रे पीर […]

Continus reading  

डॉक्टर कविता मल्होत्रा कोई तो जग को अनासक्ति का सबक सिखाए चार दिन का है जग मेला, सब मिथ्या मोह माय बचपन में खिलौनों के लिए मचल जाना, युवावस्था में मित्र मँडली का याराना, प्रौढ़ावस्था में गृहस्थाश्रम के दायित्वों का बहाना और वृद्धावस्था में तलाशना मँदिर, मस्जिद, गिरजे और गुरुद्वारे […]

Continus reading  

आती  हुई  हवाओं को, तुम निर्बाध बहने दो। कुछ  सवालों  को, बस  सवाल  ही रहने दो।।   इतनी  भी  दूरियाँ,  अपने  दरमियाँ  मत रहने दो। बैठो मेरे पास कुछ पल, कुछ हमें भी तो कहने दो।।   दोस्तों,  जमीं  को  जमीं और आसमाँ को आसमाँ रहने दो। बाँटों न आदम […]

Continus reading  

भोपाल. अंतराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं अग्रवाल वैश्य समाज हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक बुवानीवाला ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा पर समाज की अनदेखी का आरोप लगाते हुए वैश्य समाज से भारतीय जनता पार्टी को सबक सिखाने की अपील की है। बुवानीवाला ने छत्तीसगढ़ […]

Continus reading  

डॉक्टर मनमोहन शर्मा ‘शरण’ (प्रधान संपादक) पाँच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं µ चुनाव, चयन प्रक्रिया चालू है । अपने भविष्य को लेकर बड़े–बड़े, लुभावने, सुनहरे वादों को सच मानकर, अपना हितैषी जानकर जनता अपना नेता चुनती है । उसे अपना सिरमौर बनाती है । मुश्किल तब महसूस […]

Continus reading  

©डॉ. मनोज कुमार “मन”   सुबह-सुबह कँधे पर बैग लटकाकर एक हाथ में टिफिन बैग और दूसरे में इयर लीड लगा मोबाइल ले मेट्रो को पकड़ने के लिए दौड़ती भागती लड़कियाँ मार्बल की सीढ़ियों पर टप्प-टप्प की अनुगूँज करती पतली तली वाली चप्पलें मानो दबी जुबान में कह रही हैं […]

Continus reading  

 दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले 2018 में व्यापार के साथ-साथ समाजसेवा के भी कई अनूठे कार्यक्रम चल रहे हैं। ओएनजीसी और आईटीपीओ के सहयोग से सीएसआर रिसर्च फाउंडेशन ने महिलाओं और बुजुर्गों के लिए खास इंतजाम किए हैं। मेला स्थल के महिला शौचालयों  के बाहर […]

Continus reading  

(बुशरा रज़ा) बङा कनफ्यूज़न है भाई बङा कनफ्यूज़न है—!! कल शाम साढे पाँच बजे जब घर से निकली–, अपने नग़्मो के साथ गाती हुई अपनी धुन में –, ज़रा ज़रा सा जाम था उसी वक़्त मेरी नज़र कुछ दूरी पर सङक के किनारे खङी एक महिला पर पङी हर गाङी […]

Continus reading  

भारतीय प्राकृतिक चिकित्सक संघ द्वारा पहले “कृतिक चिकित्सा दिवस “ का आयोजन हिंदी भवन नई दिल्ली में किया गया , जिसमे कार्यक्रम कि अध्यक्षता इनपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ श्याम नारायण पाण्डेय ने की अतिथियों के रूप में डॉ संजीब पट्जोशी (आई पी एस – संयुक्त सचिव भारत सरकार ) […]

Continus reading  

“है रब की इबादत ग़ज़ल मेरी यारो, खुदा-ए-मुहब्बत ग़ज़ल मेरी यारो” एम०के० साहित्य अकादमी पंचकूला’ एवं ‘हरियाणा उर्दू अकादमी पंचकुला’ के संयुक्त तत्वावधान में भव्य सम्मान समारोह एवं कविसम्मेलन व मुशायरे  का आयोजन मुख्य अतिथि श्री राजबीर देसवाल आइ.पी.एस. ( Retd) एडवोकेट तथा विशेष अथिति डॉ०हेमन्त शर्मा , व  डॉ. […]

Continus reading  

उसकी अच्छी मुस्कान और खूबसूरत आँखें किसी साज़िश से कम नहीं हैं वह एक खुशमिजाज ख़्वाब है उसकी क्लासिक और प्यारी बातें समुद्र तट पर बिताई किसी रात और किसी लंबी रोमांटिक सैर की तरह हैं उसकी तरह उसकी बातें भी भुलाए जाने जैसी चीजें नहीं हैं अच्छी शराब और […]

Continus reading  

भारत दुनिया का सबसे बड़ा गणतन्त्र है जिसमें सवा अरब से अधिक आबादी निवास करती है। एक हिम शैल, तीन सागर, छ: ऋतुएँ, तीन दर्जन राज्य, दर्जनों धर्म/ पंथ, सैकड़ों भाषायें, हजारों बोलियाँ, साठ डिग्री सेल्सियस के रेंज में तापमान, हजारों त्यौहार, संस्कृति, रहन- सहन तथा मरुस्थल व मेघालय यहाँ […]

Continus reading