जीवन क्रिकेट खेल

जीवन क्रिकेट खेल

अनिश्चितता मूल में जीवन क्रिकेट खेल
फाइनल उनके बीच में जो करते थे ट्रेल
जो करते थे ट्रेल, लीग टेबल में नीचे
अब वो सब से आगे, और सब उनके पीछे
‘यश’ मत होय निराश तू , व्यर्थ लगा कर होड़
जीवन लंबी रेस है, बस तू केवल दौड़

और जिन्होंने लीग तक, किया विश्वकप टॉप
सेमीफाइनल पहुंच कर, दोनों हो गए फ़्लॉप
दोनों हो गए फ़्लॉप, आज किस्मत को कोसे
हुए सितारे फेल, था सब कुछ उन्हीं भरोसे
जीवन पिच पर ‘यश’ सदा, कुछ स्पिन कुछ सीम
बेहतर उनका चांस जहां, होय संतुलित टीम

जीवन डर कर जी रहे, बिना उठाए रिस्क
चाहते हैं इस मैच में सब कुछ कर लें फिक्स
सब कुछ कर लें फिक्स, हो घर,पैसा या बीमा
हर एक सुरक्षा के अपने सुख, अपनी सीमा
यश हो जितनी सुरक्षा, घुस जाता है चोर
कैच होने से डरे तो, होगे लेग बिफोर

कविता और कहानी