दुनिया में अलख जगाना है

दुनिया में अलख जगाना है

जब  व्यक्ति  के  रग-रग  में,

राष्ट्रीयता का  रक्त बहता है.

वैसे  ही  नागरिक  का  देश,

दुनिया का  नेतृत्व करता है.

Doctor Sudhir Singh

जहां का  एक-एक  आदमी,

देशहित की  ही करता बात.

सबका एक  ही रहता लक्ष्य,

प्रत्येक  व्यक्ति  करे विकास.

उस समृद्ध और शांत देश में,

स्वर्ग का सब सुख उपलब्ध.

आइए!  मिलकर  शपथ  लें ,

वैसा  ही  बनायेंगे भारतवर्ष.

एकजुट रह कर   हमें   यहां,

समावेशी विकास  करना है.

पुन: संसार का गुरु  बनकर, दुनिया में अलख  जगाना है.

कविता और कहानी