प्रधानमंत्री जी की  मुरीद             सारी दुनिया है

प्रधानमंत्री जी की मुरीद सारी दुनिया है

प्रधान मंत्री जी का मुरीद सारी दुनिया है,
एक-एक इंसान  उनको नमन कर रहा है.
जो लोग विश्व-हित में शुभ-कार्य करते हैं,
इतिहास उनको  युगों तक याद रखता है.

‘कोरोना’ के जाल मेंआज फंसा है संसार,
उससे उबर जाना अब बहुत ही जरूरी है.
अन्यथा प्रगति की  गति ही रूक जायेगी,
विकास से सबकी तकदीर जुड़ी रहती है.

संकट की घड़ी में  समाज काम आता है,
सामूहिक प्रयास से  संकट भाग जाता है.
‘कोरोना’ ने आज इंसान को सिखा दिया,
आदमी को वक्त पर झुक जाना पड़ता है.

सद्विचार में सदा  सुख-शांति का बास है,
सेवा व सहयोग में आनंद का आभास है.
कोरोना हेतु ‘लॉकडाउन’ बहुत जरूरी है,
संसार को जिसका आज पूरा एहसास है.

कविता और कहानी