प्रधान मंत्री जी की ललाट पर चिंता की रेखाएं

प्रधान मंत्री जी की ललाट पर चिंता की रेखाएं

Doctor Sudhir Singh

प्रधानमंत्री जी की ललाट पर चिंता की रेखाएं,
130करोड़ जनता की परेशानी बयां करती हैं,
दूरदर्शी राष्ट्रनायक  चुनौतियों से घबराता नहीं,
खतरों से खेल लेने की उनकीआदत हो गई है.

दुनिया के लिए ‘कोरोना’आज गंभीर खतरा है,
धर्म-जातिऔर सरहद से उसका नहीं वास्ता है.
जाल में वह फंसाता हैअमीर-गरीब सबको ही,
असावधान इंसान का ही वह शिकार करता है.

मानव-जाति को’कोरोना’ ने कैद कर लिया है,
सबको घर में रहने के लिए बाध्य कर दिया है.
जेल सा जीवन जीने के लिए इंसान मजबूर है,
महामारी ने सारी दुनिया को त्रस्त कर दिया है.

अब और अधिक ही सावधानी की जरूरत है,
‘लॉकडाउन’ पालन हेतु कड़ा कदम उठाना है.
कुछ दिन और ज्यादा सजग व सतर्क रहकर,
‘कोरोना’ से लड़ाई लड़ कर युद्ध जीत लेना है.

कविता और कहानी