प्रवासी दुनिया

प्रवासी दुनिया

समुंदर का नीलापन

आकाश का नीलापन

उड़ रहे क्रेन पक्षी

एक नया रंग

दे रहे प्रकृति को।

सुंदरता दिन को

दे रही  सौंदर्यबोध

रात में ले रहा

समुंदर करवटे

लहरों की।

तारों का आँचल ओढ़े

चंद्रमा की चाँदनी

निहार रही समुंदर को

क्रेन पक्षी सो रहे

जाग रहा समुंदर।

मानों कह रहा हो

प्रवास की दुनिया

पर जाने से ही

दुनिया और भी

सुंदर लगती है।

संजय वर्मा “दृष्टि”

125, शहीद भगतसिंग मार्ग

मनावर जिला धार (मप्र) भारत

कविता और कहानी