द्वितीय  एएलएस लिट फेस्ट का सफल आयोजन

द्वितीय एएलएस लिट फेस्ट का सफल आयोजन

एशियन लिटरेरी सोसाइटी ( एएलएस ) एक साहित्यिक समुदाय है जिसकी स्थापना लेखक श्री मनोज कृष्णन ने एशियाई कला, संस्कृति और साहित्य को प्रोत्साहित करने के लिए की है।

एशियन लिटरेरी सोसाइटी ने 28 फरवरी 2020 को नई दिल्ली के डेलनेट में द्वितीय एएलएस लिट फेस्ट का आयोजित किया। मुख्य अतिथि श्री बाल्मीकि प्रसाद सिंह (पूर्व राज्यपाल, सिक्किम) ने इस साहित्य उत्सव का उद्घाटन किया। श्री अमरेन्द्र खटुआ (पूर्व सचिव, विदेश मंत्रालय), डॉ. मृदुला टंडन (अध्यक्षा, साक्षी एनजीओ), श्री सयैद फ़ारूक़( डायरेक्टर, हिमालया ड्रग)  और श्री सुदर्शन कचेरी (सीईओ, ऑथर्सप्रेस) ने भी इस समारोह में शिरकत की।

द्वितीय  एएलएस लिट फेस्ट का मुख्य आकर्षण इंडियन वीमेन अचीवर्स अवार्ड्स 2020 के विजेताओं का सम्मान समारोह  था, जिसमें  कला, साहित्य और सामाजिक कार्य में विशिष्ट  योगदान के लिए  महिलाओं को पुरस्कृत किया गया।

इसके बाद डॉ. सुजाता चटर्जी द्वारा लिखित “वेव्स ऑफ फॉर्च्यून”, सुश्री नैंसी पॉल की “मार्टी एंड अदर पोएम्स”, श्री देवेंद्र साहू की “एनचेंजिंग एम्बर्स  “, सुश्री  इशरत उमर की “चेंजिंग फेस ऑफ़ इंडिया”, सुश्री व्योम मलिक एवं नीतू मालिक की “पोएट्री  शॉट्स” , डॉ. लतिका शाह सिंह के स्केच सम्मिलित एंथोलॉजी  “ स्पलैश”  तथा श्री मनोज कृष्णन द्वारा संकलित एवं सम्पादित – “ए कैलीडोस्कोप ऑफ एशिया”, “एएलएस 2019:  एन एंथोलॉजी ऑफ शॉर्ट स्टोरीज”, और “एएलएस 2019: ए बाइलिंगुअल एंथोलॉजी ऑफ पोएम्स” का विमोचन किया गया।
इसके बाद, भारत और विदेश के कई प्रतिष्ठित कवियों ने अपनी कविता पाठ से  श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। शाम का एक और आकर्षण सुश्री अनीता चंद द्वारा प्रस्तुत संगीत और शायरी का कार्यक्रम था , जिसमें सुश्री गीतांजलि दिलीप और डॉ. रक्षंदा रूही मेहदी ने दर्शकों का दिल जीत लिया।

सुश्री व्योमी मलिक, सुश्री किरण  बाबल, सुश्री इति जैन और सुश्री गौरीशा सिंह ने  कार्यक्रम का संचालन  किया।  इस कार्यक्रम का समापन  कवियों और लेखकों के सम्मान के साथ हुआ।

सभी विशिष्ट अतिथियों एवं श्रोतागणों  ने एशियन लिटरेरी सोसाइटी के द्वारा आयोजित इस सफल कार्यक्रम की बेहद सराहना की।

सभी रचनायें साहित्य