सदन में सदस्यों को उपस्थित रहना चाहिए : नायडू

नई दिल्ली : राज्यसभा में सभापति एम वेंकैया नायडू ने 31 जुलाई की कार्य सूची में निर्धारित दस्तावेज सदन के पटल पर रखने के लिए नियुक्‍त एक सदस्य की अनुपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सदस्यों को सदन में उपस्थित रहना चाहिए. उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाना शुरू किया. इसके तहत मंत्रियों ने अपने-अपने पत्र सभा पटल पर रखे. जिसके बाद सभापति ने रसायन और उर्वरक संबंधी संसदीय स्थायी समिति के प्रतिवेदन रखने के लिए राजद सदस्य प्रेमचंद गुप्ता का नाम लिया . गुप्ता सदन में मौजूद नहीं थे. जिसपर सभापति नायडू ने कहा ‘‘सदस्यों को सदन में मौजूद रहना चाहिए.’’ कार्यसूची में समिति का प्रतिवेदन रखने के लिए प्रेमचंद गुप्ता के साथ बीजेपी के विजयपाल सिंह तोमर का भी नाम था. समय में कुछ देरी होने पर सभापति ने उनसे पूछा कि ‘‘क्या, कल पेश करेंगे?’’ तभी तोमर ने प्रतिवेदन का ब्यौरा पढ़ना शुरू कर दिया. उनका ब्यौरा समाप्त करने पर नायडू ने सभी उपस्थित सदस्यों से कहा ‘‘सदस्य यह ध्यान रखें कि समय पर सदन में आना पड़ता है और समय पर ब्यौरा पढ़ना पड़ता है.’

Releated Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *