योग गुरू बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि में फ्रांसीसी कंपनी LMVH मोनेट हेनेसी-लुई वयुईट्टन 500 मिलियन (करीब 3,250 करोड़ रुपए) का निवेश करने जा रही है। पतंजलि के प्रवक्ता एसके गुप्ता तिजारावाला ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि फ्रांस के लग्जरी ग्रुप LMVH ने पतंजलि में 500 […]

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को कहा कि भारत, रूस और चीन जैसे देशों के साथ काम करना अच्छी बात है ना कि बुरी। वह रूस के साथ संबंध सुधारने की अपनी इच्छा को लेकर हो रही आलोचना पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। उन्होंने नॉर्वे के प्रधानमंत्री एर्ना […]

दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की मीटिंग से पहले सर्वे एजेंसी गैलप इंटरनेशनल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कद में इजाफा करते हुए उन्हें दुनिया का तीसरा सबसे लोकप्रिय नेता करार दिया है। दुनिया भर के अलग-अलग 50 देशों में कराए गए इस सर्वे में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मकरॉन […]

भाषा संचार की जटिल एवं विशिष्ट प्रणाली प्राप्त करने और उपयोग करने कीक्षमता है।भाषा भगवान का दिव्य उपहार है। भाषा मनुष्य के रूप को पशुओं को अलग करती है। जॉन स्टुअर्ट मिल ने कहा कि “भाषा मस्तिष्क का प्रकाश है” आज के युग में, एक या अधिक भाषा का बुनियादी […]

1

उम्र की सच्चाई इतनी लम्बी उम्र मिली है , पर जीने का वक़्त नहीं, रिश्तों की भरमार है पर रिश्तों का अस्तित्व नहीं , चेहरे पे मुस्कान सभी के, दिल में क्या है स्पष्ट नहीं, झूठी तारीफों के पुल पर , सच्चाई का वक्तव्य नहीं, जेब की दौलत लुटवाओ तो, […]

भारत के विभिन्न राज्यो में किसान आंदोलन के बाद भी किसानो की परेशानियां ख़त्म होती नही दिख रही हैं।हजारों रुपयो का प्रीमियम भरने के बाद भी किसानो को मुआवज़ा नही मिल रहा है।यहाँ किसानो का कई करोड़ का बीमा अटका हुआ है और सरकार की ओर से अभी तक कोई […]

दूर हूँ उनसे बहुत, इत्ती बात पर भी, नहीं कभी कोई मलाल आया। हर वक्त उनकी याद रही, हर वक्त बस उनका ही ख्याल आया।। उदास पतझड़ भी कुछेक पेड़ों पर कोई-कोई कोलम-सी पत्ती ले आया। पहुँचे जब हम, उनकी गलियों में, चेहरे पर उनके गुलाल उभर आया।। सवाल कोई […]

“मध्यमवर्ग” मध्यम कौन? जो बीच का हो ! या यूँ कहें दुल्हा दुल्हीन के बीच लोकनियाँ है ! समस्याँ मध्यवर्ग की सोच में नहीं उसकी सदियों से वटवृक्ष के समान फैली साखाओं में है जो जड़ कर चुकी! अंदर ही अंदर स्तंभ बनकर! वैसे ही मध्यमवर्ग कभी जरूरतों से आगे […]

उम्मीद कभी न छोड़ना । अगर कश्ती भी डूब जाती है। कुछ तो बिखरता ही है । जब आँधियाँ निरतंर आती हैं । बंदे तू मुक़ाबला कर । अपनी हिम्मत और आस से । कभी भी न डगमगाना । खुद पर अपने विश्वास से । ( किरण चावला ) 24 […]

एक प्रधान मंत्री ऐसा भी (नरेंद्र दामोदर दास मोदी ) एक महान शक्सियत जिसकी हूँ, मैं भक्त जिसने मिसाल करी कायम चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री बनने का रखना दम, जिसे विवेकानंद जी की किताबों ने दी प्रेरणा , पिलू फूल जैसे नाटक की नहीं की जा सकती कल्पना […]