आज का दिन है ऐतिहासिक

आज का दिन है ऐतिहासिक

हीरेंदर चौधरी ‘जापानी’

आज का दिन है ऐतिहासिक

आज का दिन है बहुत महान

आज के दिन पूर्ण हुए हैं

72साल से लटके काम।

नमन है मोदीजी को

है शाहजी को प्रणाम।

लौह पुरुष हैं दोनों ही

तुरंत करें सभी ही काम।

है विश्वास झलकता इनमें

नामुमकिन को मुमकिन कर दें

दुनिया जो सोच ना पाए

ना जानें ये कैसे कर दें।

उस पावन भूमि की रज का

तिलक आज मैं करता हूं

दोनों की आयु हो लंबी

यही दुआ प्रभु से करता हूं।

है संतोष मुझे और साथ ही

मैं अति उत्साहित हूं

कितने लोगों का होगा भला

यह सोच सोच इतराता हूं।

उस मां के चरणों में मेरा शत शत

ही प्रणाम रहेगा

तन मन से देश की सेवा में

जिसका बेटा लगा ही रहेगा।

ऐसी महान विभूतियां मुश्किल

से पैदा होती हैं

जो अपना सर्वस्व देश की सेवा में

अर्पित करती हैं।

अपना भी कर्तव्य फिर बन जाता है

साथ दें उनका जो देश का भाग्य विधाता है।

मोदी सरकार को फिर से है मेरा प्रणाम

आगे भी करते रहें ऐसे उज्जवल काम।

हीरेंद्र चौधरी

कविता और कहानी