बचाव

बचाव

कोरोना वायरस को ना बनने दें अभिशाप,

जागरूकता-स्वच्छता ही सर्वोपरी बचाव।

साधारण मास्क और सैनिटाइजर से,

इसके संक्रमण को रोकें,

आत्मसात कर लें,

विशेषज्ञों के दिए गए सुझाव।

रहता नहीं हवा में ये,

रहता ये सतह पे।

जगह- जगह पहुँचे ये,

वस्तु-जीव पे रह के।

पड़े धातु पे तो बारह घण्टे,

कपड़े पे नौ घण्टे,

हाथों की सतह पे ये दस मिनट तक रहते।

संक्रमित धातु छूने पे,

हाथों को साबुन से धोएं।

बरतें सावधानी फेफड़ों में संक्रमण ना होए।

गर्म नमक के पानी से खूब करें गरारे।

भीड़-भाड़ में जाने का  त्याग दीजिए विचार।

लौंग-इलायची-कपूर- जावित्री की,

पुड़िया को अपनी पॉकेट में रखें।

धूप सेकें, गर्म पानी पीएं और हाथ जेब में रखें।

आइसक्रीम-ठण्डे पदार्थों के सेवन से खुद को दूर रखें।

विटामिन सी युक्त भोजन की आदत लें डाल।

अंडा-मीट-मछली सेवन को त्याग,

छोड़ के शेक हैंड ,अपना लीजिए नमस्कार🙏🏻

ज्योति अग्निहोत्री

इटावा, उत्तर प्रदेश

कविता और कहानी